Free Sex Story Hindi - माशूका की जवान बेटी ने हमें देख लिया - Incestsexstories.in | Hindi antarvasna sex kahani Free Sex Story Hindi - माशूका की जवान बेटी ने हमें देख लिया - Incestsexstories.in | Hindi antarvasna sex kahani

Free Sex Story Hindi – माशूका की जवान बेटी ने हमें देख लिया

यह फ्री सेक्स स्टोरी हिंदी मेरी पड़ोसन माशूका और उसकी जवान बेटी की है. होली पर मैं उनके घर गया तो उसकी बेटी ने हमें किस करते देख लिया. फिर क्या हुआ?

नमस्कार दोस्तो,
मैं राकेश अपनी एक और कामुक और सच्ची फ्री सेक्स स्टोरी हिंदी आप लोगों के समक्ष ले कर आया हूँ, आशा करता हूँ कि आप सब लोग मेरी इस कहानी को भी उतना ही पसंद करोगे जितना आपने मेरी पिछली कहानियों को किया.

आप सब लोगों के मुझे बहुत से मैसेज आये और मुझे बहुत प्रोत्साहित किया, मेरी बहुत सी महिला पाठकों ने भी मेरी कहानियों को बहुत पसंद भी किया.
चार महिलाओं ने तो मेरे साथ सेक्स करने की भी इच्छा जाहिर की और उन में से एक महिला ने तो मेरे साथ अपनी रात रंगीन कर भी ली, जो कि मेरे शहर चंडीगढ़ से कोई सो किलोमीटर लुधियाना में रहती है.

खैर उनकी कहानी मैं फिर किसी दिन सुनाऊंगा. फिलहाल अभी जो में कहानी लिखने जा रहा हूँ वो मेरी मित्र नीरू की बेटी शीना की है.

मेरे नये पाठकों को अगर नीरू के बारे जानना है तो मेरी कहानी
गर्लफ्रैंड की बहन के साथ थ्रीसम चोदन
जरूर पढ़ें.

तो अब ज्यादा समय खराब न करते हुए कहानी पर आता हूँ.

जैसा मैंने बताया कि शीना मेरी पड़ोसन व मित्र नीरू की 20 साल की लड़की है.
नीरू के साथ 15 साल से मेरे शारीरिक संबंध हैं. नीरू के पति ने उसे इतनी बार नहीं चोदा होगा जितनी बार मैंने नीरू को चोदा है.

हम दोनों का घर पास में होने के कारण बहुत बार मैंने नीरू को उसके घर या कभी अपने घर चोदा है.

यह घटना देश में लॉक डाउन लगने से पहले यानि होली के अगले दिन की है, जिसकी शुरुआत होली वाले दिन हुई.

होली वाले दिन मैं 12 बजे के आसपास नीरू के घर उसे रंग लगाने गया.
जब मैं उसके घर पहुँचा तो उसका पति अपनी छोटी बेटी और बेटे के साथ कार में कहीं जा रहा था.

वो मुझे देख कर रुक गया और हमने एक दूसरे को रंग लगाया और बच्चों को ‘बाद में चलते हैं’ बोल कर मुझे घर में ले कर आ गया.

उसके दोनों बच्चे बाहर ही फिर से होली खेलने लगे.

इतने में नीरू ट्रे में दो गिलास और व्हिस्की की बोतल लेकर आ गयी. उसके साथ उसकी 20 साल की बेटी भी थी जिसके हाथ में स्नैक्स ओर पानी की बोतल थी.

दोनों ने मुझे होली की शुभकामनाएं दी.
हमने एक दूसरे के बड़े सभ्य तरीके से रंग लगाया.

फिर वो दोनों माँ बेटी भी हमारे सामने वाली कुर्सी पर बैठ गयी.
शीना ने सफेद रंग की सलवार कमीज पहनी हुई थी जो होली के रंगों से भरी हुई थी.

मैंने पेग पीते हुए नीरू को दूर से ही चूमने का इशारा किया जिसे शीना ने नोटिस कर लिया और मुझे घूरने लगी.

थोड़ी देर बाद शीना सामने रखे चिकन को लेने झुकी तो मेरी नज़र उसके क्लीवज पर पड़ी.
आह … क्या मस्त मोम्मे थे शीना के!

मैंने पहली बार महसूस किया कि शीना जवान हो गयी है.
और पहली बार ही मैंने उसे गलत नज़र से देखा.

थोड़ी देर बाद हम पेग लगा कर फ्री हुए तो नीरू का पति पेशाब करने वाशरूम गया और शीना किचन में समान रखने जाने लगी.
मैं पीछे से शीना की मटकती गांड देख रहा था.

फिर मैं जल्दी से नीरू के पास गया और उसके मोम्मे दबाते हुए उसके होंठ चूमने लगा.
इतने में शीना ने मम्मी कहकर आवाज लगाई और अंदर आ गयी.

हम दोनों जल्दी से अलग हुए और मैंने सिगरेट जलाई और सामने सोफे पर बैठ गया.
शीना फिर मुझे घूरने लगी. उसके गालों पर लाल गुलाल उसकी सुंदरता पर चार चांद लगा रहा था.

इतने में नीरू के पति ने नीरू को आवाज लगाई तो नीरू मुझसे बोली- आप शीना से बात करो, मैं आती हूँ.
ये बोल कर नीरू अंदर चली गयी.

शीना मुझसे बोली- अंकल, आपने शायद आज ज्यादा ही पी ली है जो अपने होश में नहीं हो.
मैंने पूछा- क्यों मैंने ऐसा क्या किया?
वो बोली- आप जो अभी मम्मी के साथ कर रहे थे, वो सब मैंने देख लिया.

तो मैं बोला- देखो शीना, इसमें तुम्हारी माँ की कोई गलती नहीं है, ये एक लंबी कहानी है जो मैं तुम्हें फिर कभी बताऊंगा.
वो बोली- नहीं, मुझे सब अभी जानना है कि पापा के होते मम्मी को इस उम्र में ये सब करने की क्या जरूरत है.

मैं- शीना अभी ये सब बताने का उचित समय नहीं है, मैं तुम्हें फ़ोन पर सब बताता हूं.
शीना- ठीक है अंकल, फिर आप मुझे अपना फ़ोन नंबर दो.
मैं- मेरा नंबर तुम्हारे मम्मी पापा के फ़ोन में सेव है, उनसे ले लेना.

फिर मैं बिना नीरू को मिले वहां से चला गया.

शाम को मेरे व्हाट्सएप पर शीना का मैसेज आया जिसमें उसने कॉल करने को लिखा था.
मैंने कॉल की तो शीना सीधा बोली- अब बताओ अंकल, ऐसी क्या मजबूरी है मम्मी की?
मैं बोला- शीना, तुम्हारी मम्मी की जो मजबूरी है, वो मैं तुम्हें बता नहीं सकता.

तो वो बोली- देखो अंकल, अगर आपने साफ साफ मुझे सब कुछ नहीं बताया तो मैं अपने पापा और आप की वाइफ को सब कुछ बता दूंगी.
यह सुन कर मैं कुछ देर चुप रहा, फिर उसे बताया- देखो शीना, तुम्हारे पापा तुम्हारी माँ को खुश नहीं रखते.

तो वो बोली- क्यों क्या नहीं है हमारे घर में? सब कुछ तो है. अपना घर, दो दो गाड़ियां, घर में हर सुख सुविधा का सामान! और मैंने तो हमेशा यही महसूस किया कि पापा मम्मी को बहुत प्यार करते हैं.
मैं बोला- किसी भी औरत के लिए एक सम्पन्न घर और सुख-सुविधाएँ सब कुछ नहीं होती. औरत को शारीरिक सुख भी मिलना चाहिए, जो तुम्हारे पापा उन्हें नहीं दे पाते.
शीना बोली- आपकी बात मुझे समझ नहीं आ रही, आप मुझे सब कुछ खुल कर बताओ.

तो मैं बोला- ठीक है शीना, अगर तुम सब कुछ खुल कर सुनना चाहती हो तो सुनो. तुम्हारे पापा तुम्हारी माँ के साथ आज तक ठीक तरह से सेक्स नहीं कर पाए. खुले शब्दों में कहूँ तो वो तुम्हारी माँ को कभी ठीक से चोद नहीं सके. उनके लन्ड का साइज भी बहुत छोटा है और पतला भी है. मैंने भी तुम्हारी माँ की बात पर विश्वास नहीं किया था लेकिन जब तुम्हारी माँ ने मुझे तुम्हारे पापा के साथ उनकी चुदाई की वीडियो दिखाई तो मुझे तुम्हारी माँ पर बहुत तरस आया.

शीना मेरी बात को बहुत गौर से सुन रही थी, फिर वो बोली- क्या आपके पास वो वीडियो है, मैं वो देखना चाहती हूं?
मैं बोला- वो वीडियो मेरे पास नहीं है. तुम्हारी माँ ने मुझे वो वीडियो अपने फ़ोन पर ही दिखाई थी. मेरे पास तो मेरी और तुम्हारी माँ की ही वीडियो है.

यह सुन कर शीना कुछ देर चुप हो गयी, फिर बोली- मैंने मम्मी पापा वाला वीडियो देखना है. तो मम्मी से कैसे लूं?
तो मैं बोला- तुम चुपके से अपनी माँ के फ़ोन से ट्रांसफर कर लो और देख लो.
शीना बोली- मम्मी के फ़ोन पर सिक्योरिटी कोड लगा होता है जो मुझे नहीं पता है, न मैं उनसे पूछ सकती हूं.

फिर वो बोली- आप मम्मी से बोल कर दोबारा मंगवा लो और मुझे सेंड कर देना.
मैं बोला- वीडियो तो मैं मंगवा लूंगा … पर तुम्हें सेंड नहीं कर सकता. तुम्हें वो वीडियो मेरे फ़ोन में ही देखना होगा.
तो शीना बोली- मैं आपके सामने कैसे वो वीडियो देख सकती हूं. मैं आपके जैसे बेशर्म नहीं हूं.

फिर मैंने कहा- कल तुम्हारी आंटी अम्बाला जा रही है. तो घर में कोई नहीं होगा. तुम अगर चाहो तो मेरे घर आ कर अकेले में वीडियो देख सकती हो. मैं अलग रूम में बैठ जाऊंगा.
कुछ देर सोच कर शीना ने ओके कहा और बोली- मैं कल सुबह कॉलेज टाइम में आ सकती हूं.

तो मैंने कहा- मेरी वाइफ ने 11 बजे जाना है, तो तुम 11-30 आ जाना.
उसने ओके बोला और फ़ोन काट दिया.

अब मेरे मन में शीना को चोदने के अरमान जागने लगे.
मैं सोचने लगा कि कल इसे कैसे चोदा जाए और सबसे बड़ी प्रॉब्लम शीना की मां यानि नीरू से वो वीडियो लेने की थी कि मैं उसे क्या बोल कर वो वीडियो लूं.

फिर मेरे दिमाग में एक आइडिया आया.
मैंने नीरू के पति मोहन को फ़ोन लगाया.

मोहन- हैल्लो!
मैं- हां जी मोहन जी, क्या कर रहे हो?
मोहन- कुछ नहीं, बस टीवी देख रहा हूँ. और बताओ कैसे याद किया?

मैं- कुछ नहीं बस बोर हो रहा था तो सोचा चलो आपके साथ दो दो पेग ही लगा लूं.
मोहन- मन तो मेरा भी कर रहा था पर मेरी दारू खत्म हो गयी थी तो मैं बस मार्किट जाने लगा था दारू लेने!
मैं- मार्किट जाने की कोई जरूरत नहीं. मेरे पास स्कॉच रखी है मैं ले आता हूं.

मोहन- ये तो बहुत अच्छी बात है, तुम 10 मिनट तक आ जाओ, तब तक मैं नीरू को बोल कर कुछ स्नैक्स बनवाता हूँ.
मैं- ओके मैं आ गया 10 मिनट में!

यह बोल कर मैंने फ़ोन काट दिया और तैयार होने लगा.

फिर मैंने रेड लेबल की बोतल उठायी और शीना के घर की और जाने लगा.

वहां पहुँच कर मैंने डोर बेल बजायी तो मोहन ने दरवाजा खोला और हम बाहर गार्डन में बैठ गए.

इतने में नीरू ट्रे में सब सामान लेकर आ गयी.
मैंने बच्चों का पूछा तो वो बोली- दो अंदर पढ़ रहे हैं और शीना मार्किट गयी है.
नीरू भी हमारे साथ ही बैठ गयी. वो वाइन पी रही थी.

कुछ देर बाद मैंने अपना फ़ोन निकाला और फ़ोन करने का नाटक करने लगा.
मैंने देखा मोहन के पास उसका फ़ोन नहीं है, सामने टेबल पर बस नीरू का फ़ोन था.

एक दो बार मैंने वैसे ही अपने फ़ोन से ट्राई किया, फिर मोहन से उसका फ़ोन मांगा तो मोहन बोला कि उसका फ़ोन अंदर रह गया है, तुम नीरू के फ़ोन से कॉल कर लो.
तो नीरू ने मुझे अपने फ़ोन का लॉक खोल कर दे दिया.

मैंने नीरू को बर्फ लाने के बहाने से अंदर भेज दिया.
उसके जाते ही मैंने उसके फ़ोन से वीडियो अपने फ़ोन में ट्रांसफर की और फिर वैसे ही किसी को कॉल की और फ़ोन रख दिया.

अब तक नीरू भी बर्फ ले कर आ गयी.
फिर हम बैठ कर ड्रिंक करते हुए बातें करने लगे.

थोड़ी देर बाद शीना भी आ गयी, उसने मुझे गुड इवनिंग बोला और इशारे से वीडियो के बारे पूछा तो मैंने अपना अंगूठा दिखा कर उसे बता दिया कि मिल गया वीडियो.
फिर एक दो पेग लगा कर मैं अपने घर आ गया.

उस रात मुझे शीना के बारे सोच सोच कर नींद नहीं आयी तो मैं फ़ोन पर नीरू और अपना चुदाई का वीडियो देखने लगा.
मुझे उस वीडियो में भी नीरू की जगह शीना दिखाई दे रही थी.

मेरा लन्ड तन कर टाइट हो गया, मैं किसी तरह सोया.

सुबह मेरी पत्नी ने मुझे जगाया.
फिर मैं नहा धोकर तैयार हुआ और चाय पीने लगा.

तभी डोर बेल बजी मुझे लगा कि शीना आ गयी.
मैंने घड़ी में देखा तो दस बज रहे थे.

मैंने उठ कर दरवाजा खोला तो सामने हमारा ड्राइवर खड़ा था.
उसने मुझे नमस्ते बोला और कार की चाबी लेकर कार साफ करने लगा.

मुझसे अब टाइम नहीं कट रहा था.

आधे घण्टे बाद मेरी पत्नी और बच्चे तैयार होकर आ गए.
हम सबने नाश्ता किया और फिर ड्राइवर को बुला कर सामान गाड़ी में रखवाया और बच्चे जाकर कार में बैठ गए.
फिर मेरी बीवी ने मुझे एक चुम्बन दिया और वो भी कार में जाकर बैठ गयी.

मैंने ड्राइवर को आराम से कार चलाने को बोल कर उन्हें विदा किया.

फिर मैंने अंदर जाकर अपने बैग से एक हिडन कैमरा निकाला और उसे छत पर लगे झूमर में लगा दिया और अपने लैपटॉप से अटैच कर दिया.
संतुष्टि के लिए लैपटॉप पर देखने लगा, सब कुछ ठीक था.
जिस सोफे पर मैंने शीना को बिठाना था, वो सोफा बिल्कुल साफ दिख रहा था.

सवा ग्यारह हो चुके थे, मैं बाहर गार्डन में बैठ कर सिगरेट पीते हुए शीना की प्रतीक्षा करने लगा.
पांच मिनट बाद शीना का फ़ोन आया. वो बोली- मैं आपके घर के बाहर खड़ी हूँ, दरवाजा खोलिये.

मैंने सिगरेट बुझाई और जाकर दरवाजा खोला.
शीना को देखकर मेरी आँखें फट गई.
क्या लग रही थी वो!

शीना एयर होस्टेस का कोर्स कर रही है तो उसने अपने कॉलेज की ड्रेस ही पहनी हुई थी. लाल स्कर्ट उसके घुटनों से थोड़ा ऊपर थी यानि उसकी गोरी जांघें बिल्कुल साफ दिख रही थी.
ऊपर उसने सफेद शर्ट पहनी थी जिसकी कॉलर भी लाल रंग की थी.

शर्ट में उसकी चूचियाँ बिल्कुल टाइट हो रही थी.
पैरों में उसने काली हाई हील्स डाली हुई थी.

मेरा लन्ड पैंट में ही तन गया जिसे शायद शीना ने भी देख लिया.
मैंने उसे अंदर आने को बोला.

वो अंदर आकर एक तरफ खड़ी हो गयी.
मैंने उसे बैठने को बोला तो वो सामने लगे सोफे पर बैठने जाने लगी और मैं पीछे से उसकी मस्त मटकती हुई गांड देखने लगा.

सोफे पर बैठते ही वो बोली- लाओ अंकल, वो वीडियो दिखाओ?
मैं बोला- थोड़ा सब्र करो यार!
फिर मैंने उसे जूस पीने को दिया और साथ में वीडियो खोल कर उसे अपना फ़ोन दिया.

मैंने उससे उसका फ़ोन ले लिया ताकि वो मेरे फ़ोन से कुछ भी ट्रांसफर न कर ले.
मैं उसके सामने वाले सोफे पर बैठ गया तो वो मुझ से बोली- आप दूसरे रूम में जाओ.

तो मैं मुस्कुरा कर दूसरे रूम में चला गया.

दोस्तो, कहानी के इस भाग में बस इतना ही!
अपने माँ बाप की चुदाई की वीडियो देख कर शीना की क्या प्रतिक्रिया रही?
क्या वो मुझ से चुदी?

ये सब मैं आप को फ्री सेक्स स्टोरी के अगले भाग में बताऊंगा।
[email protected]

फ्री सेक्स स्टोरी हिंदी का अगला भाग: माशूका की जवान बेटी की चुदाई- 2

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *