Aunty Boy Sex Kahani - पार्टी में दो जवान लौड़ों ने चोदी मेरी चूत - Incestsexstories.in | Hindi antarvasna sex kahani Aunty Boy Sex Kahani - पार्टी में दो जवान लौड़ों ने चोदी मेरी चूत - Incestsexstories.in | Hindi antarvasna sex kahani

Aunty Boy Sex Kahani – पार्टी में दो जवान लौड़ों ने चोदी मेरी चूत

आंटी बॉय सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं मुझे शौहर के दोस्त के घर की शादी में अकेली जाना पड़ा। वहां मुझे अकेली देख दो जवान लड़के मुझसे बात करने लगे। उसके बाद …

दोस्तो, मैं जानिसार अपनी आपबीती कहानी आपके सामने ला रही हूं।
मेरी हाईट 5 फीट 4 इंच, फिगर 36-30-36 है। ब्रा 36 सी की पहनती हूं। मेरे बूब्स काफी बड़े हैं। रंग भी गोरा है। मेरे बाल मेरी पीठ तक आते हैं।

मेरे शौहर का बिजनेस है भोपाल में!

यह कहानी सुनें.


आंटी बॉय सेक्स कहानी अब से कुछ महीने पहले की है।
मेरे शौहर बिजनेस के सिलसिले में इंदौर गये हुए थे। एक हफ्ता हो चुका था और मैं घर पर बैठी हुई बोर हो रही थी कि तभी मेरी नजर एक रिसेप्शन कार्ड पर पड़ी।

कार्ड देखा तो फंक्शन की तारीख उसी दिन की थी। मैं जानती थी वो कार्ड शौहर के एक फ्रेंड परवेज के भाई की शादी का था। मैंने शौहर को फोन लगाया और कार्ड के बारे में बताया।

वो बोले- मैं तो नहीं आ सकता हूं किंतु अगर तुम जा सकती हो तो चली जाओ। परवेज से बोल देना कि मैं नहीं आ पाया।

मैंने फोन रखने के बाद टाइम देखा तो शाम के 6 बज चुके थे। मैंने सोचा कि चलो अच्छा है, घूम आती हूं।
तो शौहर से बात करने के बाद मैं शादी में जाने की तैयारी करने लगी।

मैंने डार्क यैलो कलर की साड़ी पहनी, ब्लाउज पहना जो काफी डीप गले का था। बालों की चोटी बनाकर मैं तैयार हो गई।

कानों में बड़े झुमके और हाथों में ब्लू कलर के कंगन पहन लिए मैंने और तैयार होकर निकल पड़ी। वह शादी मेरे घर से करीब 10 किलोमीटर दूर थी।

मैं अपनी कार लेकर निकल गयी। मैं 8 बजे वहां पहुंची।

कार पार्क करके मैं मुख्य प्रवेश द्वार पर पहुंची तो परवेज भाईसाहब मुझे वहीं मिल गए।
हमारी बातचीत हुई और उन्होंने मेरे शौहर के बारे में पूछा।
मैंने बता दिया कि बाहर होने की वजह से वो आ नहीं सके।

फिर उन्होंने मेरा स्वागत किया और बताया कि अभी बारात निकलेगी भाभी, आपको भी साथ में चलना है। फिर एक घंटे के अंदर बारात वापस यहीं आएगी।
उसके बाद डिनर होगा और रिसेप्शन भी।

ये सब बातें होने के बाद मैं अंदर रिसोर्ट में चली गयी।
वहां पर काफी भीड़ थी।

मैं देख रही थी कि कोई मेरी पहचान का मुझे दिख जाये मगर मुझे वहां मेरी पहचान का कोई नहीं दिखा।

इतने में दो 22-24 साल के लड़के मेरे पास आए और मुझे जूस ऑफर किया।
मैंने हंसकर कहा- नहीं, अभी नहीं।
फिर मैंने बातचीत शुरू करने के लिए वो जूस ले लिया।

उन दोनों से बातचीत होने लगी।
उन्होंने अपना नाम इरफान और सलमान बताया।
फिर उनसे बात करके ऐसा लगा जैसे वो शादी में बिन बुलाये मेहमान हैं।

मैंने उनसे डायरेक्ट पूछ लिया कि यहां कैसे?
इस पर दोनों ने बताया कि वो लोग अभी एग्जाम की तैयारी कर रहे हैं और लजीज खाने का मजा लेने यहां आ गये हैं।
मैं उनकी इस बात पर हंस दी और फिर हम लोगों में हसी मजाक वाली बातें चालू हो गईं।

वो दोनों मेरा अच्छा टाइमपास कर रहे थे।

इतने में बारात निकल पड़ी और मैं भी बारात के पीछे लेडीज़ के साथ में जाकर खड़ी हो गई। मैंने उन दोनों को देखा तो वो दिखे नहीं।

उसके कुछ देर के बाद इरफान मेरे पास आया और बोला- भाभी डांस नहीं करोगी?
पहले तो मैंने उसको मना किया लेकिन वो बार बार बोलता रहा।
फिर मैं भी उसके साथ डांस करने के लिए तैयार हो गयी।

आगे की ओर डांस चल रहा था।
मैं उसके साथ चली गयी।

वहां पर लेडीज अलग से नाच रही थीं। मैं उनमें नाचने लगी और इरफान मेरे पास में ही नाचने लगा।

उसके बाद सलमान भी आकर नाचने लगे।
मगर धीरे धीरे वो दोनों मेरे करीब आने लगे और बहाने से मेरे बदन को छूने लगे। कभी मेरी कमर पर हाथ रख देते तो कभी गांड को छू लेते।

एक बार तो सलमान ने मेरी चूची भी बहाने से दबा दी और एकदम से फिर हाथ हटा लिया जैसे कि उसने गलती से वहां दबा दिया हो।

इस तरह से वो कई बार मेरे साथ ऐसी हरकतें करते रहे।

फिर बारात वापस रिसोर्ट की ओर आने लगी। हम लोग काफी थक गये थे। मुझे भूख भी लग आई थी और मैं सोचने लगी कि पहले कुछ खा लेती हूं।

मैं खाना लेकर कुर्सी पर बैठ गयी।

कुछ समय बाद सलमान और इरफान दोनों भी खाने की प्लेट लेकर मेरे पास आ गए और हम तीनों ने साथ में बैठकर खाना खाया।

खाना खाते वक्त दोनों ने मिलकर मुझे काफी हंसाया, काफी चुटकुले सुनाये, काफी बातें उनके कॉलेज के बारे में बतायी और मेरा काफी मनोरंजन किया।
अब मैं दोनों के साथ खुलकर बात कर रही थी।

हमारा खाना भी खत्म हो चुका था।
इतने में दूल्हा दुल्हन दोनों स्टेज पर पहुंच गए और रस्म चालू हो गई।
बाकी सभी लोग स्टेज की ओर चले गए थे।

मैं भी सबके साथ स्टेज की ओर चली गयी और मेरे साथ इरफान और सलमान भी दोनों स्टेज की और पहुंच गये। कार्यक्रम चल रहा था तब इरफान और सलमान दोनों मेरे साथ ही खड़े थे।

भीड़ इतनी ज्यादा थी कि लोगों की हल्की धक्का-मुक्की भी चल रही थी। इस दौरान इरफान और सलमान दोनों मुझसे एकदम चिपक कर खड़े थे।

इस बीच सलमान ने मेरे कंधे पर हाथ रख दिया और इरफान ने मेरी कमर पर हाथ रख दिया।

दोनों ने मेरे एक एक हाथ को हल्के से पकड़ लिया और हंसकर बात करने लगे।

मैं बड़े आश्चर्य से दोनों को देख रही थी और सोच रही थी कि आखिर इनका इरादा क्या है?
लेकिन क्या करूं … मैं भी एक औरत हूं।
मेरी भी तमन्ना जाग उठी।

मैं भी उनकी इस हरकत का कोई विरोध न कर सकी और मैं उनका साथ देने लगी और मैंने दोनों को झूठा गुस्सा दिखाते हुए अपनी आंखें दिखायीं।

इस पर दोनों हंसी मजाक के मूड में मुझसे बात करने में बिजी हो गये।

आखिरकार मुझे मुंह खोलना ही पड़ा और मैंने कहा- अब अपना हाथ भी हटा लो वरना कोई देख लेगा तो शामत आ जायेगी।

इस पर दोनों ने हंसकर मुझे देखा और चिपक कर बातें करने लगे।
एक ने कहा- भाभी, आप वाकई बहुत खूबसूरत हो।
मैं उनसे दूर भी नहीं हो सकती थी। आखिर इतने लोगों के बीच में करती तो क्या।

मैंने अपने आप को इस हालत में आज से पहले नहीं कभी नहीं पाया था। आखिर में उनका साथ देने के लिए मैं मजबूर थी और उनका साथ दिये जा रही थी।

इतने में कार्यक्रम खत्म हो गया और वहां से लोगों की भीड़ भी कम होने लगी।
मैं भी वहां से निकलने का सोचने लगी।

तो सलमान बोला- भाभी चलिए, आइसक्रीम खाते हैं।
वह इरफान को बोला- भाभी को लेकर चल यार, मैं आइसक्रीम लेकर आता हूं।

फिर इरफान और मैं वापस जाकर एक किनारे बैठ गये।

इरफान और मैं बैठकर बात ही कर रहे थे कि सलमान आइसक्रीम के तीन कप लेकर आया।
हम तीनों आइसक्रीम खाने लगे।

हमारे सामने टेबल था जिस पर कपड़ा ढका हुआ था। इतने में सलमान ने अपना हाथ मेरी नाभि पर रख दिया और दूसरी तरफ इरफान ने भी अपना हाथ मेरी नाभि पर रख दिया।

इरफान बीच-बीच में अपना हाथ उठाकर मेरी पीठ की ओर ले जाता और हल्की सी गुदगुदी मुझे कर देता।
मैं उनकी इस बात पर हंस देती।

आखिर मैंने उनसे कहा- तुम दोनों बड़े बदमाश हो, मुझ पर कब से लाइन मार रहे हो … तुम्हें क्या लगता है कि मैं तुमसे पट जाऊंगी?

इस पर सलमान बोला- नहीं भाभी, हमें यकीन है कि आप हमें पसंद करती हैं बल्कि हम आपको आप से भी ज्यादा पसंद करते हैं।
फिर दोनों मिलकर मेरी तारीफों के पुल बांधने लगे।

एक औरत को क्या चाहिए … अपनी तारीफ सुनकर मैं उनकी ओर झुक गयी और मैं उनकी इन हरकतों का जवाब प्यार से देने लगी।

अब काफी समय हो गया था, मैंने उनसे कहा- चलो ठीक है, तुम दोनों से मिलकर काफी अच्छा लगा। अब मैं चलती हूं।
इस पर सलमान बोला- क्यों भाभी? हम आपको छोड़ आते हैं।

मैंने कहा- नहीं, मेरे पास कार है।
इरफान बोला- कुछ देर और बैठ जाइये भाभी। फिर हम साथ ही निकलेंगे।

उनसे बात करने के दौरान मैंने यह नोटिस किया कि दोनों की हरकतें बढ़ती जा रही थीं। दोनों अब काफी सही तरीके से मेरे शरीर को छू रहे हैं। कोई मेरी कमर में हाथ डाल रहा था तो कोई मेरे बूब्स दबा रहा था।

मैं दुनिया से अपने आप को छुपाते हुए उनका साथ दे रही थी। मुझे भी मज़ा आ रहा था।

इस प्रकार मुझे कुछ अजीब लगा और मैंने कहा- देखो, कोई हमें देख लेगा इसलिए मैं बाहर जा रही हूं।

इतना बोलकर मैं वहां से उठकर निकल पड़ी।
वो दोनों मेरा इशारा समझ चुके थे।
मैं जैसे ही निकली मेरे पीछे-पीछे सलमान और इरफान दोनों आ गए।

गेट से निकलकर मैं मेरी कार के पास पहुंची ही थी कि सलमान तेज कदमों के साथ मेरे पास आया और कहा- भाभी जी, यही है आपकी कार?
मैंने कहा- हां, चलो तुम्हें कहीं चलना है तो छोड़ देती हूं।

मेरी कार पार्किंग यार्ड में सबसे आखिर में खड़ी थी। वैसे भी पार्किंग यार्ड में किसी का आना जाना नहीं था। जो लोग जाने वाले थे वह लोग निकल चुके थे और वहां पर हल्की रोशनी आ रही थी।

पार्टी की पार्किंग यार्ड में कोई लाइट तो थी नहीं तो मैं कार के पास जाकर खड़ी हो गयी।
सलमान बोला- नहीं भाभी, हमें कहीं नहीं जाना।

इतना कहकर सलमान ने मेरा हाथ पकड़ लिया मैंने कहा- छोड़ो सलमान, कोई देख लेगा।
इस पर सलमान ने कहा- यहां कौन आने वाला है भाभी … जाने से पहले हमें कुछ दे तो दीजिये।

मैंने कहा- मुझे कुछ नहीं देना।
इस पर सलमान ने मेरा दूसरा हाथ भी पकड़ कर कार पर दबाते हुए फैला दिया और मुझसे सटकर खड़ा हो गया और बात करने लगा।

उधर इरफान भी तब तक मेरे पास आ गया और वह भी मेरे साथ चिपक कर खड़ा हो गया। अब मैं जानती थी कि यहां कोई आने वाला नहीं है। मैं भी उनका साथ दे रही थी।

सलमान मेरी गर्दन पर किस करने लगा और इरफान मेरे पेट पर चूमने लग गया। दोनों साथ ही साथ मेरे बूब्स, मेरी कमर और मेरे पैरों पर सहला रहे थे।

अब मुझसे रहा नहीं जा रहा था तो मैंने सलमान से कहा- यहां यह सब ठीक नहीं है, कार के अंदर चलते हैं।
दोनों ने कहा- ठीक है।

मैंने अपनी कार का पीछे वाला दरवाजा खोला और दोनों ने सीट को आगे कर दिया। अब कार में पीछे से काफी जगह थी। पहले सलमान अंदर गया और फिर मैं। मेरे पीछे इरफान भी घुस गया।

अब हम तीनों कार में पीछे की ओर थे। पूरा अंधेरा छाया हुआ था।
अब हमें कार में कोई देख नहीं सकता था।

सलमान ने पीछे बैठकर मुझे अपनी गोद में बिठा दिया और मेरे बूब्स को मसलने लगा।
इरफान आगे से मेरे होंठों पर होंठ रखकर चूसने लगा।

मुझे काफी मजा आ रहा था।

इतने में इरफान पीछे हुआ और उसने मेरी साड़ी को हल्की सी ऊपर किया और सलमान ने मेरे ब्लाउज के बटन खोल दिए।

मैंने ब्रा और पेंटी पहन रखी थी तो अभी भी मेरे बूब्स बाहर आने को तरस रहे थे। सलमान ने ब्रा की स्ट्रिप को एक तरफ करके मेरे बूब्स को मसलना चालू कर दिया।

इरफान उधर मेरी पैंटी निकालकर मेरी चूत पर अपनी जीभ को फिराने लगा।

मेरी तो मानो जान निकली जा रही थी और मुझसे सहा नहीं जा रहा था।
आखिर मैंने दोनों से कहा- चलो यार … जो भी करना है जल्दी कर लो … अब मुझसे रहा नहीं जा रहा।

सलमान और इरफान दोनों ने जल्दी से अपनी पैंट उतार दी।

मेरे सामने सलमान पीछे की ओर होकर बैठ गया। सलमान का 7 इंच का लंड देखकर मैं हैरान थी कि इतनी कम उम्र में इतना मोटा और बड़ा लंड!
सलमान ने मेरी साड़ी उठाकर मुझे अपने लंड पर बैठने को कहा।

मैं आगे की तरफ होकर उसके लंड पर बैठ गयी।

अब इरफान पीछे से मेरे ब्लाउज को पूरा ऊपर करके किस करने लगा और पीछे से मेरी गांड में लंड डाल दिया।
दोनों के लंड मेरी चूत और गांड में आ चुके थे।

अब दोनों ने शॉट देना चालू कर दिया।
मुझसे अब रहा नहीं जा रहा था … मेरी चूत से रस की धार बह रही थी।

मेरे मुंह से कामुक आह्ह … आह्ह … ऊह्ह … आह्ह … जैसी आवाजें निकल रही थीं।

मैं मदोहशी में चिल्ली रही थी- उऊई मां … ओह्ह … और चोदो … आह्ह … चोदते रहो।
उन दोनों की स्पीड भी बढ़ती जा रही थी। दोनों ने चोदते चोदते मेरे बालों को पकड़ लिया।
फिर बाल खींचते हुए मुझे चोदने लगे।

मुझे दर्द में भी मजा आ रहा था। मैं उनका साथ दिये जा रही थी।
मेरे मुंह से आवाजें रुकने का नाम ही नहीं ले रही थीं।

बीच-बीच में दोनों मेरे बूब्स दबा रहे थे और मेरी गांड पर थप्पड़ भी लगा रहे थे।
मेरे बूब्स लाल हो चुके थे।

दोनों ने करीबन मुझे 15 मिनट उसी पोजीशन में चोदा।
उसके बाद जब दोनों का निकलने को हुआ तो दोनों ने मुझसे पूछा- कहां निकालें?

मैंने कहा- निकालिये क्या … अंदर ही डाल दीजिये।
दोनों ने अपना अपना माल मेरी चूत और गांड में डाल दिया।

हम लोग पहले राउंड से फ्री हुए। वहीं पर थक कर बैठे रहे काफी देर।

इतने में सलमान वापस तैयार हो गया और इस बार उसने कहा- भाभी आप घोड़ी बनो, आपकी गांड में लंड देना है।
इरफान बोला- भाभी … आप मेरा मुंह में लो।

मैंने भी वैसा ही किया।

इस बार सलमान ने मेरी खूब गांड मारी। मुझे काफी मजा आ रहा था।

इरफ़ान ने मेरा मुंह पकड़ कर मेरे मुंह को भी खूब चोदा। उसका लंड मेरे गले की गहराई तक जा रहा था।

मेरे मुंह से गूं गूं की आवाज निकल रही थी। सांस रुक रही थी लेकिन मजा बहुत आ रहा था।
मैं लंड को चूसती रही और वो मेरे मुंह को चोदता रहा।

फिर उसने मेरे बालों को पकड़ लिया और जोर से मेरे मुंह में लंड घुसाने लगा।

दोनों ही मुझे रंडी की तरह पेलने में लगे हुए थे।
वहां पर किसी के आने का डर नहीं था इसलिए मैं लौड़ों का मजा लेने में कोई कसर नहीं छोड़ रही थी।

आधे घंटे की चुदाई के बाद मैं काफी थक चुकी थी।
मेरी चूत में से न जाने कितना पानी निकल चुका था।
अब सलमान ने पीछे ही मेरी गांड में अपना माल निकाल दिया।

इरफान मेरे मुंह में झड़ गया। मैंने दोनों के लंड को चाट चाटकर साफ़ कर दिया और दोनों ने गाड़ी में से निकलने से पहले मेरे बूब्स दबाये और मेरे होंठों को भी खूब चूसा।

आखिर जब हमारा काम खत्म हो गया तो मैं गाड़ी से निकली।
वो दोनों पहले ही निकल चुके थे।

मैंने कहा- तुम दोनों के साथ काफी अच्छा लगा लेकिन यह हमारी पहली और आखिरी मुलाकात थी।

फिर भी सलमान और इरफान, दोनों ने अपना नंबर मुझे लिखकर दे दिया और कहा- आपको कभी जरूरत हो तो हमें जरूर याद कीजियेगा।

उसके बाद मैं अपनी कार लेकर वहां से निकल पड़ी।

तो दोस्तो, यह था पार्टी में मेरी चुदाई का किस्सा। ये मुझे हमेशा याद रहता है। जवान लड़कों के लंड से चुदने में मुझे असीम संतुष्टि मिली।

मैं अभी भी ऐसी ही किसी पार्टी का इंतजार करती रहती हूं।

दोस्तो, आपको मेरी आंटी बॉय सेक्स कहानी कैसी लगी जरूर बताना। मैं आपके मैसेज का इंतजार करूंगी।
मेरा ईमेल आईडी है- [email protected]

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *