भाई का लंड बहन की चूत - Incest Sex Stories - Antarvasna भाई का लंड बहन की चूत - Incest Sex Stories - Antarvasna

भाई का लंड बहन की चूत

इन दो भाइयों की एक बहन है, कीर्ति. वो भी किसी माल से कम नहीं थी. खास करके उसकी गांड बहुत ही बाहर को निकली हुई थी. एकता के चुचे मीडियम साइज के थे … न ज्यादा बड़े … और ना ज्यादा छोटे.

मैं आपको अनिल और एकता की कहानी सुनाता हूं.

वैसे तो दोनों सगे भाई बहन हैं … लेकिन हवस के आगे सारे रिश्ते भुला चुके थे. इन दोनों भाई बहन में बहुत प्यार था. वे दोनों खूब मस्ती करते थे. वे जवान हो चुके थे.

अनिल को सेक्स के बारे में सब पता था जबकि कीर्ति को इस सबके बारे में कम ही पता था.

ऐसे ही एक दिन अनिल अपने कमरे में सोया हुआ था, तो कीर्ति वहां पर झाड़ू लगाने आयी. उसने उस दिन गहरे गले की टी-शर्ट और लोवर पहना हुआ था.

जब कमरे में आई, तो दरवाजे की आवाज से अनिल की नींद खुल गयी. वो बेड पर लेटे लेटे ही कीर्ति को देख रहा था. जब कीर्ति झुक कर झाड़ू से कचरा निकाल रही थी, तो अनिल को उसके पूरे चुचों के दर्शन हो गए.

बस यहीं से अनिल कीर्ति को हवस की नजर से देखने लगा. अनिल के दिल में कीर्ति के लिए हवस जाग गयी थी.

wo इस सबसे अनजान थी कि उसका बड़ा भाई उसकी जवानी का दीवाना हो गया है. अब अनिल कीर्ति को किसी भी हाल में चोदना चाहता था. लेकिन उसे मौका नहीं मिल पा रहा था. चूंकि वे दोनों अक्सर मस्ती किया करते थे, तो अब अनिल उसके चूचों और गांड को छूने लगा था.

ऐसे ही दिन निकलते जा रहे थे और अनिल की हवस बढ़ती जा रही थी.

एक दिन संयोग से कीर्ति को अनिल के कमरे में सोना पड़ा. अनिल ने सोचा कि आज अच्छा मौका है. आज तो एकता को चोद ही दूंगा.

कीर्ति अनिल के पास उसके बेड पर आयी और मस्ती करने लग गयी. हमेशा ही एकता अनिल के ऊपर बैठकर मस्ती करती थी. आज भी एकता अनिल के ऊपर चढ़ी हुई मस्ती कर रही थी.

अनिल बार बार मस्ती के बहाने कीर्ति के चुचे दबाये जा रहा था. कीर्ति भी जवान हो गयी थी, तो उसे भी अपने मम्मे दबवाने में मजा आ रहा था. इसलिए वो कुछ नहीं बोल रही थी.

लेकिन थोड़ी देर बाद अनिल ने कीर्ति को नीचे बेड पर लिटा दिया और खुद कीर्ति के ऊपर आकर मस्ती करने में लग गया.

कुछ ही देर में वो मस्ती नहीं और कुछ ही काम में चालू हो गया था.

थोड़ी देर बाद अनिल ने अपने होंठों कीर्ति के होंठ पर रख दिये. एकता एक पल के लिए चौंक गयी और उसने अनिल को धक्का दे दिया.
कीर्ति बोली- भैया आप ये क्या कर रहे हो?
अनिल- अरे बहुत मजा आएगा … मुझे करने दे.
कीर्ति बनावटी ग़ुस्सा करते हुए कहने लगी- नहीं … मुझे जाने दो … मुझे नहीं लेना ऐसा वाला मजा.

पहले तो अनिल ने कीर्ति को समझाया कि अरे यार बहुत मजा आने वाला है … तू खुद कहेगी कि भैया और करो.
कीर्ति ने कहा- मुझे थूक से गीला गीला लगता है.
अनिल बोला- शुरू में लगेगा. फिर तुझे बहुत मजा आएगा.
कीर्ति बोली- नहीं मुझे बिना थूक वाला खेल अच्छा लगता है.
अनिल बोला- अच्छा आ जा … अब बिना थूक वाला खेल खेलते हैं.

कीर्ति मान गई और अनिल के ऊपर आ गयी.

कुछ देर तक वे दोनों धींगा मस्ती करते रहे और एक दूसरे के शरीर से मजा लेते रहे. अनिल ने एक बार फिर से अपनी बहन के होंठों को चूमा. इस बार उसने जीभ को अन्दर नहीं डाला था, जिससे उसकी बहन को अच्छा लगा और उसने भी अनिल को चूमा.
उसने कहा- भैया मुझे ऐसे ठीक लग रहा है.

अनिल उसको बिना गीला किये चूमने लगा. कुछ देर बाद अनिल की गर्मी बढ़ गई, तो उसने अपनी जीभ फिर से एकता के मुँह में डाल दी.

एकता फिर से मना करने लगी. उसने अनिल को अपने ऊपर से हटा दिया. लेकिन इस बार अनिल नहीं माना और वो वापस एकता के ऊपर आकर उसे किस करने लगा. उसने अपना एक हाथ उसके एक चुचे पर रख दिया और वो अपनी बहन की चूचियों को दबाने लगा.

कीर्ति को भी चूची दबवाने में मजा आ रहा था, तो वो भी मजे लेने में लग गयी.

फिर अनिल ने एकता की टी-शर्ट और लोअर को निकाल दिया. एकता अब ब्रा और पेंटी में हो गई थी. अनिल ने तभी उसकी ब्रा का हुक खोलकर ब्रा भी निकाल दी और उसके चूचों को बारी बारी से चूसने लगा. चूचों पर अनिल ने अपनी गीली जीभ को खूब फिराया, तो कीर्ति को मजा आने लगा. अब कीर्ति भी मस्ती में आ गयी.

फिर थोड़ी देर बाद अनिल नीचे खिसका और कीर्ति की पेंटी के पास आ गया. अनिल हवस भरी नजरों से उसकी पैंटी को देख रहा था. वो अपना एक हाथ एकता की जांघों पर फेरता हुआ उसकी पेंटी पर लाया और पेंटी खींच कर निकाल दी.

अब कीर्ति पूरी नंगी हो गयी थी. फिर अनिल खड़ा हुआ और उसने भी अपने सारे कपड़े निकाल दिए.

उसका लंड फनफनाता रहा था. जब कीर्ति ने उसका लंड देखा, तो हाथ में पकड़ते हुए बोली- आह … कितना बड़ा है ये.
अनिल बोला- हां और अब ये तेरी चूत में जाएगा.
ये सुनकर कीर्ति घबरा गई और बोली- भैया … मैं सहन नहीं कर पाऊंगी. ये बहुत बड़ा है.
अनिल बोला- कुछ नहीं होगा मेरी बहना रानी … बस थोड़ा दर्द होगा, सहन कर लेना. उसके बाद मैं तुझे जन्नत की सैर करवाऊंगा.

लेकिन कीर्ति मना कर रही थी.

फिर अनिल ने वापस कीर्ति को बेड पर लेटाया और उसकी चूत के पास ले जाकर उसे सूंघने लगा. उसने अपनी जुबान कीर्ति की चूत पर फेरी, जिससे कीर्ति की मदभरी सिसकारी निकल गयी.

अनिल उसकी चूत चाटने में लग गया. कीर्ति को चूत चटवाने में बहुत ही मजा आ रहा था. ये सब उसके लिए पहली बार था.

थोड़ी देर में कीर्ति का बदन अकड़ने लगा और वो जोर जोर से अनिल का मुँह अपनी चूत पर दबाने लगी थी. थोड़ी देर में वो एक झटके के साथ झड़ गयी और बहुत तेज़ हांफने लगी.
अनिल चूत का सारा रस पी गया.

कुछ देर बाद अनिल कीर्ति के ऊपर आ गया और उसने अपना लंड उसकी चूत पर टिका दिया.

बहन की चूत एकदम कुंवारी थी तो उसकी चूत बहुत ही ज्यादा टाइट थी.

अनिल ने जोर लगाया, तो भाई का लंड बहन की चुत पर से फिसल गया. दो तीन बार कोशिश करने के बाद भी लंड चूत में नहीं गया.

फिर अनिल ने अपनी बहन की चूत पर ढेर सारी क्रीम लगा दी और वापस अपने लंड को उसकी चुत पर टिका दिया.

कीर्ति को लंड की गर्मी से मजा आ रहा था. तभी अनिल ने एक जोर से झटका मारा, तो उसका आधा लंड उसकी बहन की चुत में घुस गया.

कीर्ति लंड के एकदम से घुस जाने बेहोश सी हो गयी. उसकी आंखें बाहर आने को थीं. वो चिल्लाई, पर अनिल ने अपने हाथ से उसके मुँह को दबा दिया था. जिस वजह से उसकी आवाज वहीं घुट गयी.

वो कुछ संभलती, उससे पहले अनिल ने एक और झटका लगा दिया और पूरा लंड बहन की चूत में घुसा दिया.
कीर्ति छटपटाने लगी, उसकी आंखों से आंसू गिरने चालू हो गए थे. वो रहम की भीख मांग रही थी … क्योंकि उसकी चूत की सील टूट चुकी थी.

अनिल थोड़ी देर रुक कर उसे किस करता रहा. वो उसके चूचों को बारी बारी चूसता रहा. कुछ ही देर में कीर्ति का दर्द कम हुआ, तो उसने अपनी गांड हिला दी.

इससे अनिल समझ गया कि अब घोड़ी हिनहिनाने को तैयार है. वो अपने लंड को अन्दर बाहर करने लगा. एकता वासना भरी सिसकारियां लेने लगी.

कीर्ति बोले जा रही थी- उम्म्ह … अहह … हय … ओह … आआहहह … येयेहह … जोर से … और जोर से चोदो मेरे भैया राजा..

अनिल भी जोश में धक्के पर धक्के दे रहा था. पूरे कमरे में थप थप की आवाज गूंज रही थी.

करीब 15 मिनट बाद अनिल झड़ने को हुआ, तो उसने अपना लंड बाहर निकाला और अपना वीर्य एकता के पेट और चूचों पर निकाल दिया. कीर्ति दो बार पहले ही झड़ चुकी थी. अनिल थक कर एकता के पास लेट गया.

दोनों नंगे भाई बहन एक दूसरे से चिपके हुए थे.

थोड़ी देर बाद अनिल ने कीर्ति के चूचों को सहलाते हुए पूछा- मजा आया?
कीर्ति बोली- हां … बहुत मजा आया भैया.
फिर अनिल बोला- ये बात किसी को मत बताना.
कीर्ति ने कहा- ठीक है, मैं किसी को नहीं बताऊंगी.

कुछ देर में वापस अनिल का लंड खड़ा हो गया और वो फिर से कीर्ति के ऊपर चढ़ गया.

फिर से एक बार दनादन चुदाई का खेल शुरू हो गया. उस रात अनिल ने तीन बार अपनी बहन को चोदा.

इसके बाद सुनील ने भी कीर्ति को चोदा और उसकी गांड भी मारी थी,

50% LikesVS
50% Dislikes

2 Responses so far.

  1. choonredo says:

    If you are using doxycycline to treat chlamydia, your doctor may test you to make sure you do not also have gonorrhea, another sexually transmitted disease. doxycycline 100mg for sale How should this medicine be stored? doxycycline price usabuy doxycycline online usa

  2. GabodobiaAwax says:

    Раздался треск, я даже сперва подумал, что это кости с таким звуком сломались, но это, всего на всего, сломалась бита об подставленную руку. кредитная карта банк онлайн заявка кредит, карта cosmopolitan альфа банк. – Товарищ лейтенант! бесплатная горячая линия русфинанс банк, До офиса требовалось проехать на другой край города, но учитывая, что на дорогах сегодня было ну очень мало машин, да и городок у нас маленький, тут если и случаются пробки, то только по причине какой-нибудь крупной аварии. россельхозбанк кредиты наличными, приватбанк крещатик. Мишка уговорил меня поехать с ним на реконструкторский фестиваль, или как это у них называется.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *