बड़ी बहन की मदद से उसकी दोस्त को चोदा - Incest Sex Stories - Antarvasna बड़ी बहन की मदद से उसकी दोस्त को चोदा - Incest Sex Stories - Antarvasna

बड़ी बहन की मदद से उसकी दोस्त को चोदा

बड़ी बहन की मदद :> हैल्लो दोस्तों, में करीम एक बार फिर से आप सभी के सामने अपना एक और सच्चा सेक्स अनुभव लेकर आया हूँ. दोस्तों मेरी बड़ी बहन आलिया की गोरी गोरी गांड और एकदम गुलाबी चूत है, जिसको देखकर में उसका नौकर बन गया और चुदाई के मज़े लेने लगा और हम उस दिन से आज तक रोज़ सेक्स करते है और हमे जब भी मौका मिलता तो हम अपने जिस्म की आग को बुझाने लगते है. बड़ी बहन की मदद

बड़ी बहन की मदद

मैंने उसकी चूत के बहुत मज़े लिए और बहुत जमकर हर तरह से सेक्स किया और आज में आप सभी को अपनी एक और नई सेक्स घटना सुनाने जा रहा हूँ जिसमें मैंने अपनी बहन की एक सहेली को अपनी बहन की मदद से चोदा. बड़ी बहन की मदद

दोस्तों यह बात आज से दो महीने पहले की है जब में उस दिन अपने कॉलेज से घर आया तो मैंने देखा कि माँ खाना बना रही थी और मेरी दीदी आलिया टी.वी. देख रही थी और पापा अपने टूर पर चले गये थे. अब मैंने सोचा कि मौका अच्छा है और में अपनी बहन के पीछे जाकर उसको गाल पर किस करने लगा और फिर वो भी तुरंत पीछे मुड़ी और मेरा सर पकड़कर मेरे होंठ चूसने लगी और अब हम एक दूसरे में इतने खो गये कि हमे पता भी नहीं चला कि कब माँ पीछे आ गई. अब माँ ने बहुत गुस्से से पूछा कि तुम दोनों यह क्या कर रहे हो? और फिर हम दोनों जल्दी से अलग हो गये.

आलिया : वो माँ में में ( वो ठीक तरह से बोल भी नहीं पा रही थी. )

में : वो माँ मेरे होंठ के नीचे चोट लगी थी और खून भी निकल रहा था तो दीदी वो देख रही थी.

माँ : ओह अच्छा दिखाना मुझे भी, ज़्यादा तो नहीं लगा ना. मैंने तुझे कितनी बार बोला है कि तू ज्यादा शरारत मत किया कर. बड़ी बहन की मदद

अब माँ इतना कहकर बड़बड़ाते हुए वहां से चली गई, दीदी और में ज़ोर ज़ोर से हंसने लगे.

आलिया : ओह आज तो हम बाल बाल बच गए.

में : हाँ एकदम सही कहा मेरी प्यारी बहन.

और वो फिर शरमा गई. फिर कुछ देर बाद वो अपने कामों में लग गई और दूसरे दिन जब में सोकर उठा तो उस दिन रविवार का दिन था और मैंने देखा कि दीदी अभी भी सो रही थी तो में उठा और अब मुझे एक शरारत सूझी तो में अब दीदी के बड़े बड़े बूब्स को उनकी मेक्सी के ऊपर से ही चूसने लगा और काटने लगा और दीदी मुस्कुराने लगी और फिर वो उठकर मुझसे बोली..

आलिया : शैतान में तो सोने का नाटक कर रही थी, क्योंकि मुझे पता था तू ज़रूर कुछ ना कुछ ऐसा मेरे साथ करेगा.

फिर वो हंसने लगी. मैंने भी हंसते हुए दीदी की गांड को दबा दिया और वो ज़ोर से चिल्ला पड़ी आईईई.

माँ : क्या हुआ?

में : कुछ नहीं माँ दीदी को हल्की सी बेड से चोट लगी है.

फिर माँ ने कहा कि उसको नीचे भेज दे मुझे उससे कुछ जरूरी काम है और फिर दीदी मुझे ठेंगा दिखाकर नीचे भाग गई. दोपहर के दो बज रहे थे और उस समय तक हम सब खाना खा चुके थे और तभी माँ ने कहा कि चलो बेटा अब में चलती हूँ, मुझे एक किटी पार्टी में जाना है और वहाँ पर गली की सभी औरतें आ रही है और में शाम को 7 बजे तक आ जाउंगी और फिर माँ कुछ देर में तैयार होकर मुझसे दरवाजा बंद करने के लिए कहकर चली गई. अब मैंने दीदी की तरफ देखा और उन्हें इशारे से समझाया तो उन्होंने कहा. बड़ी बहन की मदद

आलिया : हाँ हाँ आज पक्का करेंगे और उन्होंने मेरी तरह आँख मार दी.

फिर में तुरंत उठकर खड़ा हुआ और दीदी के पास चला गया और अब मैंने दीदी को जल्दी से पूरा नंगा कर दिया और अब हम दोनों हॉल में ही सेक्स कर रहे थे और में उस समय उस चुदाई के चक्कर में दरवाज़ा बंद करना भूल गया था. फिर मैंने दीदी के मुहं में अपना लंड दे दिया था और वो उसे पूरा अंदर बाहर करके लोलीपोप की तरह मज़े ले लेकर प्यार से चूस रही थी, लेकिन तभी अचानक से दीदी की एक दोस्त जिसका नाम सोनिया था वो कमरे में आ गई और हमे पूरा नंगा होकर एक दूसरे से लिपटा हुआ देखकर वापस बाहर चली गई और अब अचानक से उनका मेरे लंड को चूसना रुक गया. फिर मैंने दीदी से कहा कि अब हम क्या करे उसने हमे यह सब करते हुए देख लिया है और वो अब बाहर किसी को बता देगी तो हमारी शामत आ जाएगी?

आलिया : देख मेरे राजा भाई, तू टेंशन मत ले और में बाहर जाकर उससे बात कर लूँगी.

दोस्तों में उनकी यह बात सुनकर थोड़ा सा शांत हो गया, लेकिन अब भी में वो सब सोच रहा था, थोड़ी देर बाद मेरी बहन उसकी दोस्त सोनिया के घर पर उसे मानने चली गई. दोस्तों वो वहाँ पर गयी और उसने उसकी दोस्त को कैसे समझाया यह में आपको भी बताता हूँ और जो मेरी बहन ने मुझे बाद में बताया था.. बड़ी बहन की मदद

आलिया : आंटी सोनिया घर पर है?

आंटी : हाँ बेटा वो अंदर अपने कमरे में टी.वी. देख रही है और तुम अंदर जाकर उससे मिल लो.

आलिया : धन्यवाद आंटी.

सोनिया उस समय टी.वी. देख रही थी दीदी अंदर गई और उसे आवाज़ लगाई.

आलिया : सोनिया.

सोनिया उठी और दीदी का हाथ पकड़कर उसको अंदर ले गयी और उसने कहा.

सोनिया : पागल क्यों तू अपने घर पर क्या कर रही थी उस लड़के के साथ और वो भी पूरी नंगी होकर? बड़ी बहन की मदद

आलिया : अरे वो कोई और नहीं वो मेरा भाई था, क्या एक भाई बहन एक दूसरे को नंगा नहीं देख सकते? और क्या वो मज़े नहीं कर सकते? हाँ तेरा कोई भाई नहीं है ना, तू वो सब नहीं समझेगी?

सोनिया : अरे पागल वो तेरा भाई है और तू उसका वो (लंड) चूस रही थी, क्या तूने कभी सोचा भी है कि तू उसके साथ वो सब क्या कर रही थी और क्या तुझे बिल्कुल भी शर्म नहीं आती?

आलिया : हाँ तो इसमें क्या गलत है वो मेरा भाई है कोई और तो नहीं? देख सोनिया हमारी उम्र में सबको अपनी अपनी सेक्स की प्यास बुझानी होती है और इस वजह से बहुत सारी नादान लड़कियाँ बाहर किसी से भी चुदवाकर अपनी इज्जत गँवा देती है, लेकिन अगर घर पर ही चुदाई के मज़े करे तो किसी को भी शक नहीं होगा और अपनी इज्जत भी बची रहेगी. बड़ी बहन की मदद

सोनिया ( अपना मुहं खोलकर अपने मुहं पर हाथ रखते हुए ) : तू यह क्या बोल रही है और यह कैसे गंदे गंदे शब्द काम में ले रही है?

आलिया : चल उस बात को जाने दे और तू मेरे एक सवाल का सच सच जवाब दे क्या तुझे अपनी चूत में कभी गरमी और खुजली महसूस हुई है? बड़ी बहन की मदद

सोनिया : हाँ लेकिन में कभी कभी उंगली से काम चलाती हूँ वो बिल्कुल शरमाते हुए बोली.

आलिया : लेकिन जो मज़ा एक बार लंड लेने में है वो उंगली करने में नहीं है और तू सोच कि तुझे भी कोई चोद रहा है तुझे कैसा लगेगा?

सोनिया : अब अपना हाथ अपनी चूत पर ले जाकर शरमाते हुए बोली हाँ बहुत अच्छा लगेगा, लेकिन यह सब कैसे मुमकिन हो सकता है?

दोस्तों दीदी ने अब देख लिया था कि उसका हाथ अब अपनी चूत पर जा चुका है और वो अब धीरे धीरे उनकी बातें सुन सुनकर गरम हो गई है और उसके चेहरे पर एक अजीब सी चमक आ गई थी.

आलिया : सोच कोई तुझे, कोई क्या मेरा भाई तुझे अपने 6 इंच के लंड से चोद रहा है कैसा लगेगा?

सोनिया : यार प्लीज अब बस कर मेरे नीचे गीला हो रहा है.

आलिया अपना एक हाथ सोनिया के बूब्स के ऊपर रखकर बोली कि सोच मेरा भाई तुझे ज़ोर ज़ोर से चोदते हुए अपने गरम मुहं से तेरे बूब्स चबा रहा है तो बता यह अनुभव कैसा रहेगा?

अब दीदी ने उसे जोश में लाने के लिए होंठो पर किस करना शुरू कर दिया और वो दोनों अब मस्त होकर चुदाई के बारे में सोच रहे थे और किस भी कर रहे थे और एक दूसरे के बूब्स भी दबा रहे थे. दोस्तों सोनिया बहुत ही बड़े आकार के बूब्स वाली है और उसके बूब्स मुलायम, लेकिन निप्पल एकदम कड़क है और वो बिल्कुल एक फिल्म हिरोइन जैसे है और थोड़ी अमृता राव की तरह दिखती है. अब वो दोनों एक दूसरे की चूत पर कपड़ो के ऊपर से ही हाथ चलाने लगे और करीब 5 मिनट बाद वो दोनों ही झड़ गये और अब सोनिया को अपनी पेंटी में थोड़ा सा गीला महसूस होने लगा. फिर दीदी ने उसे समझाया कि जब हम झड़ते है तो ऐसा ही होता है.

आलिया : अच्छा तू सच सच यह बता कि तुझे मज़ा आया या नहीं?

सोनिया : हाँ मुझे बहुत मज़ा आया और में अंदर ही अंदर बहुत अच्छा महसूस कर रही हूँ.

आलिया : अब तू थोड़ा सा सोच अगर मेरे हाथ की जगह तेरी चूत में मेरे भाई का मोटा, लम्बा लंड होता तो जो लगातार अंदर बाहर होकर तेरी चूत की खुजली मिटाता तो तुझे कितना मज़ा आता?

सोनिया : हाँ मुझे बहुत मज़ा आएगा, लेकिन में उससे अपनी चुदाई नहीं करवाउंगी, बस तेरे भाई का लंड चूस लूंगी और वो मेरी चूत चूसेगा क्यों मंज़ूर है? बड़ी बहन की मदद

आलिया : हाँ ठीक है कल सुबह हमारे घर पर कोई नहीं रहेगा, क्योंकि मेरे मम्मी, पापा मेरे किसी दूर के रिश्तेदार की शादी में पूरे एक सप्ताह के लिए बाहर जा रहे है, में और भाई कल अपने अपने कॉलेज से छुट्टी ले लेंगे और तू भी छुट्टी लेकर कल ठीक 12 बजे मेरे घर पर आ जाना, क्योंकि 11 बजे ट्रेन निकल जाएगी और उसके साथ साथ हमारे मम्मी पापा भी क्यों ठीक है?

सोनिया : हाँ ठीक है.

दोस्तों अगले दिन मम्मी, पापा को छोड़ने में और दीदी स्टेशन चले गये और जल्दी 11:30 बजे तक वापस भी आ गये और जब हम घर पर पहुँचे तो देखा कि सोनिया वहीं पर दीदी का इंतज़ार कर रही थी और में ताला खोलकर सीधे घर में चला गया और दीदी उससे बात करने लगी तो वो दीदी से बोल रही थी यार मुझे बहुत डर लग रहा है अगर किसी को पता लग गया तो?

आलिया : नहीं पता चलेगा, तू अभी अंदर चल.

सोनिया : हाँ ठीक है चल.

अब वो दोनों घर के अंदर आ गए थे और में बहुत थक गया था, इसलिए में नहाने चला गया था और फिर दीदी ने सोनिया से कहा कि में बाथरूम से उनकी सारी बातें सुन रहा था कि वो क्या क्या बातें कर रही थी? फिर उससे बोली कि सोनिया तू यहीं पर रुक में अभी बाथरूम में जाकर कुछ देर में अपने भाई का लंड खड़ा करके अभी आती हूँ. फिर दीदी जल्दी से बाथरूम में चली आई और में तो उस समय पूरा नंगा होकर खड़ा था और दीदी ने अंदर आते ही मेरा लंड पकड़कर मुहं में भर लिया और चूसने लगी और फिर कुछ देर बाद लंड को बाहर निकालकर मुझसे कहा कि में छुपकर एक वीडियो बनाती हूँ और तू उससे अपना लंड चूसवा और उसकी चूत को चाटना, चूसना.

में : हाँ ठीक है.

दीदी अब कैमरा चालू करके छुप गई और में टावल लपेटकर बाहर गया और मुझे देखकर सोनिया तुरंत खड़ी हो गई और उसने कहा कि आप सिर्फ़ टावल में?

में : नाटक मत कर मेरी जान, आजा बस एक बार मेरा चूस दे और में तेरी चूत बहुत प्यार से चूसूंगा, तेरे कोमल लाल लिपस्टिक वाले होंठ मेरे लंड पर रख सोनिया कांपती हुई आगे आई और अपने घुटनों पर बैठकर उसने मेरा टावल हटा दिया और मेरा टाईट खड़ा लंड देखकर वो थोड़ा सा मुस्कुराई और फिर उसके लंड को हाथ से हिला दिया और लंड का टोपा मुहं में लेकर चाटा, चूसा और कहा कि मैंने आज पहली बार किसी का लंड देखा है इससे पहले सिर्फ़ मेरी बहन के लेपटॉप में छुपकर ब्लूफिल्म में देखा था और फिर मैंने कहा.. बड़ी बहन की मदद

में : चल रंडी अब जल्दी से मेरा असली लंड चूस.

दोस्तों वो अब चूसती रही थी और जिससे पूरे कमरे में छप छप छप की आवाज़ आ रही थी और वो सब कैमरे में रिकॉर्ड हो रहा था और उसके 15 मिनट चूसने के बाद में झड़ गया. फिर उसने मेरा वीर्य अपने मुहं से बाहर थूक दिया और मुझसे कहा कि यह बहुत नमकीन है, लेकिन मुझे इसको चूसना बहुत अच्छा नहीं लग रहा है, यह मेरा किसी के लंड को चूसने का पहला अनुभव है.

में : ठीक है चल अब सीधी बेड पर, इसके आगे के मज़े में और भी अभी देता हूँ.

दोस्तों मैंने बेडरूम में पहुंचकर उसे सीधा बेड पर लेटा दिया और में उस समय पूरा नंगा था, लेकिन वो अभी भी नंगी नहीं हुई थी. बड़ी बहन की मदद

सोनिया : देखो तुम सिर्फ़ मेरी चूत को चूसना और प्लीज चोदना मत.

में : हाँ ठीक है मेरी जान ठीक वैसा ही करूंगा जैसा जैसा तुम मुझसे कहोगी.

अब मैंने उसे करीब दो मिनट तक किस किया और फिर उससे कहा कि वाह तेरे होंठ तो बहुत रसीले है? बड़ी बहन की मदद

सोनिया : धन्यवाद, प्लीज अब चूसो ना मुझसे अब रहा नहीं जाता.

में : हाँ ठीक है, चूसता हूँ.

फिर मैंने उसके बूब्स को दबाया तो वो अह्ह्ह्ह कर रही थी. फिर मैंने उसका टॉप उतार दिया. दोस्तों उसका टॉप उतारते ही मैंने देखा कि उसके बड़े बड़े बूब्स एकदम झूलकर बाहर लटकते हुए ठीक मेरे सामने आ गए, क्योंकि वो आज खुद जानबूझ कर ब्रा नहीं पहनकर आई थी और अब में उसके बूब्स को चूसने लगा और ज़ोर ज़ोर से दबाकर निचोड़ने लगा. फिर मैंने उसके निप्पल को भी चूसा और काटा भी वो आहह्ह्ह्ह सीईईईई प्लीज थोड़ा धीरे करो उह्ह्ह्ह प्लीज बड़बड़ा रही थी.

फिर मैंने जल्दी से उसकी स्कर्ट को उतार कर उसकी गुलाबी कुँवारी चूत चाटी और चूसी तो वो मेरे सर को अपनी चूत पर पकड़कर मेरी जीभ को थोड़ा और अंदर लेने लगी, करीब 15-20 मिनट चूसने के बाद झड़कर बिल्कुल निढाल होकर पड़ गई, में अब भी उसकी चूत को चाटता, चूसता रहा. मैंने उसकी चूत को चाट चाटकर पूरी तरह से लाल कर दिया था और फिर कुछ देर बाद वो मुझसे कहने लगी कि बस अब में घर पर जाती हूँ. फिर दीदी हँसती हुई वहां पर आई और कहा कि क्या हुआ सोनिया चुदवाएगी नहीं मेरे भाई से?

सोनिया : नहीं यार मैंने तुमसे पहले ही कहा था ना कि में सिर्फ़ अपनी चूत को चूसने, चाटने दूंगी, में अपनी चुदाई नहीं करने दूंगी.

हाँ मेरी जान, लेकिन अब तुम्हें चुदवाना होगा, क्योंकि मैंने तुम दोनों की सारी हरकते कैमरे में रिकॉर्ड कर ली है तुम या तो इससे चुपचाप चुदवाओ या बदनाम हो जाओ.

सोनिया : ( अब सोनिया ने मेरी दीदी से आग्रह विनती करना शुरू कर दिया) प्लीज यार मुझे जाने दो और तुम यह विडियो डिलीट कर दो प्लीज.

में : मेरी जान अब तुम इतना सब कुछ कर ही चुकी हो तो प्लीज अब एक बार चुदवा भी लो ना.

सोनिया : ठीक है, लेकिन प्लीज तुम किसी को भी वो विडियो मत दिखाना.

में : हाँ ठीक है, चल अब आजा में तुझे आज जमकर चोदता हूँ.

दोस्तों अब में और सोनिया पहले से ही नंगे थे और अब दीदी भी पूरी नंगी हो गयी और अब हम तीनों नंगे थे, सबसे पहले बेड पर सोनिया लेट गई और में उसके ऊपर लेट गया तो दीदी ने मेरा लंड पकड़कर सोनिया की चूत के मुहं पर रखकर थोड़ा सा अंदर दबाया और जैसे ही मेरे लंड का टोपा चूत के अंदर गया तो मुझे तुरंत पता चल गया कि सोनिया पहले भी चुद चुकी है.

में : अब सच सच बता मेरी जान मुझसे पहले किस किस से चुदी है?

सोनिया : सच कहूँ तो सबसे पहले जब में एग्जाम में कॉपी करते हुए पकड़ी गई तो मेरे कॉलेज के सर ने मुझे मेरी उस बात को किसी को ना बताने की बात पर बहुत जमकर चोदा और तब उन्होंने मुझसे कहा था कि वो मुझे पेपर में अच्छे नंबर से पास कर देंगे और फिर उन्होंने ऐसा कर भी दिया.

दोस्तों मुझे उसके मुहं से वो पूरी बात सुनकर उस पर बहुत गुस्सा आया और फिर मैंने एक ही झटके में अपना पूरा का पूरा लंड अंदर डाल दिया और ज़ोर ज़ोर से धक्के देने शुरू कर दिए. अब सोनिया भी मेरे साथ साथ अपनी चुदाई के मज़े ले रही थी आहहहह आसीईईईइ प्लीज और ज़ोर से चोदो मेरी चूत को आअहह फाड़ दो. फिर में लगातार ज़ोर ज़ोर से धक्के देने लगा, जिसकी वजह से उसके बूब्स ज़ोर ज़ोर से हिलने लगे और वो उस चुदाई के दर्द से चीखने चिल्लाने लगी, लेकिन कुछ देर की चुदाई के बाद वो अपनी चूतड़ को उठा उठाकर मेरा लंड पूरा अंदर लेने लगी और करीब 15-20 मिनट के बाद में झड़ गया.

फिर मैंने तुरंत अपना लंड बाहर निकालकर दीदी के मुहं में डाल दिया और फिर दीदी ने मेरा सब वीर्य अपनी जीभ से बिल्ली की तरह चाट चाटकर साफ किया और अब दीदी को खाना बनाना था तो वो कुछ देर बाद हमारे पास से उठकर चली गई और वो पूरी नंगी ही खाना बनाने लगी. फिर मैंने उससे कहा कि सोनिया मुझे आज तेरी गांड भी मारनी है और वो झट से मान गई. फिर मैंने अपने हाथ में थोड़ा सा क्रीम लेकर उसकी गांड और मेरे लंड पर लगाकर उसकी गांड में लंड को डालकर आगे पीछे करने लगा और वो चिल्ला रही थी आअहह अह्ह्ह हाँ और मारो उफ्फ्फ मारो मेरी गांड प्लीज और ज़ोर से ज़ोर मारो प्लीज आअहह मेरी गांड आज फट ही जाएगी आअहह सईईई.

दोस्तों में थोड़ी ही देर बाद उसकी गांड में झड़ गया. अब हम दोनों बहुत थक चुके थे और कुछ देर लेटकर आराम करने के बाद दीदी ने हमे खाना बनाकर खिलाया. फिर हम तीनों ने खाना खाया और उसके बाद मैंने एक एक करके दीदी और सोनिया को चोदा. दोस्तों अब में ऐसे ही दीदी और सोनिया की रोज़ एक सप्ताह तक मौका पाकर चुदाई करता रहा. बड़ी बहन की मदद

बड़ी बहन की मदद :> incestsexstories.in

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *